13.9.17

सिर के बाल और नेत्रज्योति के लिए ब्रह्मास्त्र नुस्खा // Brahmastra Nuskha for head hair and sharp eyesight

  
आँखों की रोशनी बढ़ाता है और सिर के बालों को मजबूत बनाता है यह सरल प्रयोग, जरूर पढ़ें 
आधुनिक जीवनशैली की देन बहुत सारे रोगों में से दो समस्याएं बहुत प्रमुख हैं, आखों की रोशनी कम होना और सिर के बालों का कमजोर होकर टूट जाना । ये दोनों ही समस्याएं ऐसी हैं कि धीरे धीरे शुरू होकर स्थायी रूप से आपको परेशान करने लगती हैं । इस पोस्ट के माध्यम से हम आपको एक ऐसा सरल प्रयोग बता रहे हैं जो बहुत से रोगियों पर आजमाया हुआ और बहुत अच्छे रिजल्ट देने वाला सिद्ध हुआ है । इस प्रयोग को हम आपके लिये प्रकाशित कर रहे हैं, जरूर लाभ उठाइयेगा ।

इस नुस्खे को तैयार करने के लिये आपको निम्नलिखित सामग्री की जरूरत पड़ेगी :-

* साबुत लहसुन चार
* बादाम की गिरी 200 ग्राम
*पिस्ता 200 ग्राम
* गाय के दूध से बना देशी घी आधा किलो
* शुद्ध शहद एक किलो
* काली मिर्च 200 ग्राम
*अलसी के बीज 500 ग्राम
* साबुत लहसुन चार
* बादाम की गिरी 200 ग्राम
*पिस्ता 200 ग्राम




तैयार करने की विधि-

इस नुस्खे को तैयार करने के लिये सबसे पहले अलसी के बीज को धूप में सुखाकर दरदरा कूट लें और काली मिर्च का मिक्सी में चलाकर बारीक पाउडर बना लें । इसके बाद लहसुन की चारों पोथियों की सभी कली को छिलकर बारीक बारीक कतर लें । बादाम और पिस्ते को भी बारीक बारीक काट लें । सभी सामान के तैयार हो जाने के बाद इनको एक साथ मिला लें । अब देशी घी को कढ़ाही में डालकर बस इतना गर्म करें की घी पिघल जाये । अब इस पिघले हुये घी में सभी सामान डालकर मिला दें । सबसे आखिर में जब घी ठण्डा होना शुरू हो जाये तो उसमें शहद भी मिलाकर बहुत अच्छी तरह से मिला लें और काँच के मर्तबान या शीशी में भरकर रख लें ॰आपका नुस्खा तैयार है ।



सेवन विधि :-

इस नुस्खे को सभी उम्र के लोग  खा सकते हैं । उम्र के अनुसार खुराक की मात्रा निम्न प्रकार रहेगी
3 साल तक के बच्चे एक तिहाई चम्मच सुबह और शाम
3 से 8 साल तक के बच्चे आधा चम्मच सुबह और शाम
8 से 16 साल तक के युवा एक चम्मच सुबह और शाम
16 साल से ऊपर दो चम्मच सुबह और शाम




एक टिप्पणी भेजें