Showing posts with label प्याज के रस व प्याज के तेल के स्वास्थ्य लाभ. Show all posts
Showing posts with label प्याज के रस व प्याज के तेल के स्वास्थ्य लाभ. Show all posts

21.8.19

प्याज खाने,प्याज के रस व प्याज के तेल के स्वास्थ्य लाभ -डॉ.आलोक


सर्दी जुकाम एक ऐसी समस्या है जिससे लगभग हर इंसान को झुजना हीं पड़ता है. बदलते मौसम, बदलता पानी, बदलता पर्यावरण इत्यादि. ये सब सर्दी के कारक हो सकते हैं.
सर्दी जुकाम से राहत पाने के लिए बेहद हीं कारगर उपाय है प्याज.
प्याज़ हर घर में मौजूद होता है. इसकी अनेकों खूबियां हैं. इसमें मौजूद विटामिन ए, बी, सी और ई, फॉलिक एसिड, मिनरल्स और नेचुरल शुगर जैसे पोषक तत्व पाए जाते हैं, जो हमारे स्वास्थ्य के लिए काफी लाभदायक साबित होता है. आयुर्वेद के हिसाब से सर्दी जुकाम से दूर रखने में प्याज का सेवन काफी कारगर है.
प्याज का सेवन –
* प्याज का रस शहद के साथ लें
आमतौर पर कफ – खांसी ठीक होने के लिए 7 – 10 दिन कम – से – कम लग जाते हैं. लेकिन प्याज के रस के सेवन से 1 सप्ताह से कम समय में हीं कफ से छुटकारा मिल जाता है. सर्दी – जुकाम में कद्दूकस किया हुआ प्याज का रस शहद में मिलाकर पीना फायदेमंद है. प्याज के एक चम्मच रस में 8 औंस नींबू का रस और एक चम्मच शहद पानी के साथ मिलाकर पिएं.
*प्यास का सूप
सर्दी जुकाम से निपटने के लिए प्याज का सूप या सिरप भी काफी लाभदायक हो सकता है. एक कटोरी में लाल प्याज का टुकड़ा रखकर शहद डालें और उसे 10 – 15 घंटे के लिए छोड़ दें. इस तरह से तैयार सिरप को दिन में तीन – चार बार लें.
* कच्चा प्याज ज्यादा फायदेमंद होता है
ऑर्गैनिक सल्फर यौगिक होने के कारण कच्चा प्याज पके प्याज से ज्यादा असरदार होता है. सल्फर लीवर से विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालने में मदद करता है और सर्दी – खांसी से छुटकारा पाने में सहयोग के साथ-साथ शरीर की प्रतिरोधक क्षमता भी बढ़ाता है. सल्फर यौगिक के कारण प्याज से तीखी गंध आती है, जो कफ को पतला करती है. उसे बाहर निकलने में सहायता करती है. और जुकाम में आराम पहुंचाती है.


* प्याज की भाप से लाभ

पानी में प्याज की स्लाइस डालकर उबालें और उसकी भाप लें. एंटीबैक्टीरियल गुणों से भरपूर होने के कारण इससे काफी लाभ मिलता है.
प्याज के जूस से होते हैं यह स्वास्थ्यवर्धक लाभ
प्याज के जूस में कई ऐसे तत्व होते हैं जो शरीर को कई समस्याओं से बचाने में मदद करते हैं और स्वस्थ रखने में मदद करते हैं।प्याज के जूस में प्रचुर मात्रा में विटामिन सी, बी6 और फोलिक एसिड होता है साथ ही यह कैल्शियम,मैंग्नीशियम,आयरन,और फॉस्फोरस सप्लाई करता है। जो शरीर के लिए काफी फायदेमंद होता है। प्याज में मौजूद क्रोमियम खून में शुगर की मात्रा को कंट्रोल करने में मदद करता है। इसी तरह से प्याज से स्वास्थ्य के कई लाभ होते हैं।
*बालों की ग्रोथ:
प्याज का जूस बालों के लिए काफी अच्छा होता है। प्याज में सल्फर होता है जो बालों की वृद्धि के लिए एसेंशियल पोषक तत्व होता है। एक स्टडी के मुताबिक दो हफ्तों तक सिर की त्वचा पर प्याज का जूस लगाने से बालों की वृद्धि बढ़ जाती है। प्याज के जूस की बदबू बालों को शैम्पू से धोने से चली जाती है।
*त्वचा के लिए: प्याज त्वचा के ऊतक की परत की सहायता से रक्त के संचरण को ठीक रखता है। प्याज के जूस में शहद मिलाकर लगाने से पिंगमेंट की समस्या दूर हो जाती है।
*पाचन तंत्र में सुधार लाता है:
प्याज अच्छी मात्रा में इंनुलिन सप्लाई करता है जो कि एक डाइट्री फाइबर होता है साथ ही यह आंतों में मौजूद स्वस्थ बैक्टीरिया के लिए भोजन का स्त्रोत होता है। इंनुलिन से आपका पेट स्वस्थ रहता है साथ ही यह शरीर में स्वस्थ बैक्टीरिया को बने रहने देता है। जिससे पाचन तंत्र में सुधार होता है।
*एलर्जी से बचाता है:
प्याज में प्राकृतिक रुप से एंटीहिस्टामाइन क्वरेटिन मौजूद होता है जो अस्थमा और अन्य एलर्जी से रोकथाम करता है। प्याज में मौजूद क्वरेटिन को आंते जल्दी अवशोषित कर लेती है। प्याज के जूस का सेवन शरीर के लिए फायदेमंद होता है।
*ग्लूकोज के लेवल को कम करना:
रोजाना प्याज के जूस का सेवन करने से खून में शुगर की मात्रा कम हो जाती है। यह प्याज में मौजूद एलिल प्रोपाइल डिसल्फाइड के कारण होता है। इसके साथ ही प्याज में मौजूद क्रोमियम ग्लूकोज की मात्रा को सही रखने में मदद करता है।


*हड्डियों को स्वस्थ रखता है:

प्याज का इस्तेमाल हड्डियों को स्वस्थ रखने में किया जाता है। एक स्टडी के मुताबिक प्याज में ऐसे कंपाउंड होते हैं जो हड्डियों को नुकसान होने से रोकथाम करते हैं। इसलिए प्याज के जूस का सेवन करना फायदेमंद होता है।
प्‍याज के तेल के फायदे स्वास्थ्य, त्‍वचा और बालों के लिए होते हैं। हम में से अधिकांश लोग केवल प्‍याज के फायदे ही जानते हैं। जबकि प्‍याज से अधिक उपयोगी और प्रभावी प्‍याज का तेल होता है। अधिकांश लोग समझते हैं कि प्‍याज का तेल प्‍याज से संबंधित है। जबकि ऐसा नहीं है। प्‍याज का तेल प्‍याज के बीजों के से प्राप्‍त होता है जो कि प्‍याज का अभिन्‍न अंग हैं। क्‍या आपने कभी प्‍याज के तेल का उपयोग किया है। यदि आप प्‍याज के तेल का इस्‍तेमाल करने के फायदे नहीं जानते हैं तो हम आपको इसके बारे बताएगें।
प्‍याज के तेल के गुण बालों को सुंदर और स्‍वस्‍थ बनाने में सहायक होते हैं।
प्‍याज का तेल प्‍याज के बीजों से प्राप्‍त किया जाता है। सामान्‍य रूप से प्‍याज के पौधे का उपयोग कई प्रकार से किया जाता है। उसी प्रकार प्‍याज के तेल के फायदे भी कई प्रकार की बीमारियों को दूर करने के लिए किया जाता है। प्‍याज के बीजों का उपयोग विभिन्‍न प्रकार के व्‍यंजनों को बनाने के लिए भी किया जाता है। आइए जाने प्‍याज के तेल में मौजूद पोषक तत्‍वों के बारे में जो स्‍वास्‍थ्‍य लाभ दिलाने में सहायक होते हैं।
प्‍याज के तेल के गुण
प्‍याज का तेल अपने गुणों के कारण स्‍वास्‍थ्‍य और सौंदर्य समस्‍याओं के लिए फायदेमंद होता है। प्‍याज सल्‍फर से भरपूर होते हैं इसमें विटामिन A, C, E और B-कॉम्‍प्‍लेक्‍स होते हैं। इनकी मौजूदगी के कारण प्‍याज का तेल प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ावा देने, संक्रमण से लड़ने, मधुमेह को नियंत्रित करने और पाचन समस्‍याओं को दूर करने मे सहायक होते हैं। इसके अलावा प्‍याज के तेल में एंटी-बैक्‍टीरियल, एंटी-सेप्टिक और एंटी-इंफ्लामेटरी गुण भी होते हैं। जिनके कारण यह मुंहासे, खांसी, कफ आदि समस्‍याओं को दूर करने में प्रभावी होते हैं।
बालों के लिए
क्‍या आप बालों के झड़ने संबंधी समस्‍या से परेशान हैं। यदि ऐसा है तो प्‍याज और नारियल के तेल का उपयोग करें। नियमित रूप से बालों में इस मिश्रण का इस्‍तेमाल करने से बालों की जड़ों को पोषण मिलता है जिससे वे जड़ से मजबूत होते हैं। बालों के लिए नारियल के तेल के फायदे होते हैं। साथ ही प्‍याज में ऐसे खनिज पदार्थ होते हैं जो बालों को झड़ने से रोकते हैं। यदि आप भी अपने बालों को स्‍वस्‍थ और सुंदर बनाना चाहते हैं तो प्‍याज के तेल का उपयोग कर सकते हैं।
मधुमेह में
यदि आप मधुमेह रोगी हैं तो प्‍याज के तेल के लाभ आपकी समस्‍या का समधान कर सकते हैं। नियमित रूप से प्‍याज के तेल का सेवन रक्‍त शर्करा के स्‍तर को नियंत्रित करने में सहायक होते हैं। प्‍याज के तेल में मौजूद पोषक तत्‍व शरीर में इंसुलिन प्रतिरोध को बढ़ाते हैं जिससे रक्‍त शर्करा के स्‍तर को आसानी से नियंत्रित किया जा सकता है।
बालों के लिए प्‍याज का तेल
बालों के लिए प्‍याज के तेल का उपयोग करना बहुत ही लाभकारी होता है। आप सामान्‍य रूप से नारियल तेल के साथ प्‍याज के तेल को मिलाकर अपने बालों में इस्‍तेमाल कर सकते हैं। इस मिश्रण को और अधिक प्रभावी बनाने के लिए आप नारियल और प्याज के तेल में कुछ मेथी के बीजों को डालकर पका लें। फिर इस तेल को ठंडा करके अपने बालों में प्रयोग कर सकते हैं।
आप अपने हाथों में इस तेल के मिश्रण को लें और उंगलियों की मदद से बालों की जड़ में इस तेल को लगाएं। इसके बाद आप हल्‍के हाथों से स्‍कैल्‍प की हल्‍की मालिश करें। ऐसा करने से बाल झड़ने से बच सकते हैं।
पाचन ठीक करे
पाचन समस्‍याएं आपके लिए कई गंभीर स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍याओं का कारण बन सकती है। लेकिन यदि आप नियमित रूप से प्‍याज के तेल का सेवन करते हैं तो आपको पाचन संबंधी समस्‍याएं होने की संभावना कम हो सकती है। ऐसा इसलिए है क्‍योंकि प्‍याज के तेल के औषधीय गुण पाचन को ठीक करने में सहायक होते हैं। आहार के रूप में सेवन करने पर यह पाचन में मदद करता है। इसके अलावा प्‍याज के तेल में मौजूद एंटी-बैक्‍टीरियल गुण आंतों में मौजूद परजीवी को नष्‍ट करने में सहायक होते हैं। ये परजीवी दस्‍त और पेचिश आदि समस्‍याओं का प्रमुख कारण होते हैं।


त्‍वचा संबंधी समस्‍याओं को दूर करने के लिए प्‍याज का तेल

त्‍वचा संबंधी समस्‍याओं को दूर करने के लिए प्‍याज का तेल बहत ही लाभकारी होता है। नियमित रूप से उपयोग करने पर यह त्‍वचा को स्‍वस्‍थ और तरोताजा रखता है। इसके अलावा यह एक्जिमा और सोरायसिस जैसी गंभीर त्‍वचा समस्याओं को भी प्रभावी रूप से दूर कर सकता है। किसी घाव या जले के निशान को दूर करने में भी प्‍याज का तेल प्रभावी होता है। आप अपनी त्‍वचा के रंग को साफ करने के लिए प्‍याज के तेल का इस्‍तेमाल कर सकते हैं। प्‍याज के तेल में मौजूद एंटीऑक्‍सीडेंट और जीवाणुरोधी गुण मुंहासों को दूर करने में भी सहायक होते हैं।
बुखार मे फायदा
बुखार के लक्षणों को कम करने के लिए प्‍याज के तेल का इस्‍तेमाल किया जा सकता है। बुखार के दौरान शरीर के तापमान को कम करने के लिए प्‍याज का तेल एक अच्‍छी औषधी है। इसके अलावा इस दौरान शरीर में होने वाले दर्द और ऐंठन आदि को भी प्रभावी रूप से दूर किया जा सकता है। बुखार के लक्षणों को दूर करने के लिए आप 1 चम्‍मच शहद में प्‍याज के तेल की 1-2 बूंदें लें और इसका सेवन करें। दिन में 2-3 बार सेवन करने पर बुखार में आराम मिल सकता है।
घाव के उपचार में
घाव उपचार के लिए प्‍याज का तेल बहुत ही फायदेमंद होता है। प्‍याज के तेल में एंटी-बैक्‍टीरियल और एंटी-फंगल गुण होते हैं। जिसके कारण घाव में उपयोग करने पर प्‍याज का तेल घाव उपचार को गति दिलाता है। यदि आप घावों का जल्‍दी से उपचार करना चाहते हैं तो घाव के ऊपर मलहम या लोशन के रूप में प्‍याज के तेल का उपयोग कर सकते हैं।
प्याज तेल लाभ दर्द के लिए
प्‍याज के तेल के लाभ किसी भी प्रकार के दर्द को दूर करने में सक्षम होता है। यदि आप दांत के दर्द, कान दर्द या सिर के दर्द जैसी समस्‍या से परेशान हैं तो प्‍याज का तेल आपके लिए लाभकारी हो सकता है। दांत के दर्द को दूर करने के लिए आप प्‍याज के तेल की कुछ बूंदें लें और इसे दांतों पर लगाएं। सिर दर्द होने पर आप किसी अन्‍य तेल जैसे जैतून तेल, नारियल या सरसों के तेल में प्‍याज के तेल की 2-3 बूंदें मिलाएं और प्रभावित क्षेत्र में हल्‍की मालिश करें। ऐसा करने से आपको सिर के दर्द से राहत मिल सकती है।

किडनी फेल (गुर्दे खराब) की अमृत औषधि 

प्रोस्टेट ग्रंथि बढ्ने से मूत्र बाधा की हर्बल औषधि 

सिर्फ आपरेशन नहीं ,पथरी की 100% सफल हर्बल औषधि 

आर्थराइटिस(संधिवात)के घरेलू ,आयुर्वेदिक उपचार