Showing posts with label त्रिदोष दर्द नाशक. Show all posts
Showing posts with label त्रिदोष दर्द नाशक. Show all posts

4.5.18

अगस्त पेड़ के गुण,फायदे,उपयोग //Benefits of August Tree

                                        

 अगस्त का पेड़ काफी गुणकारी है , इसकी छाल , तना , पत्तियां , बीज व बीजों का तेल सभी अपना अलग अलग महत्व रखते है , जैसे अगस्त की पत्तियों में कैल्शियम ( हमारी हड्डियों के लिए ) ,प्रोटीन ( शक्ति वर्धक ) ,  लोहा , फास्फोरस , विटामिन  A ( हमारी आँखों के लिए ) , B , और विटामिन c ( त्वचा सम्बन्धी रोगों से बचाता है ) व अन्य पोषक तत्व प्रचूर मात्रा में पाया जाता है इस पेड़ की छाल में रक्तवर्ण और टैनिन होता है  इसके बीजों प्राप्त तेल में प्रचूर मात्रा में प्रोटीनपाया जाता है , जिसकी मात्रा  लगभग ७० % पायी जाती है  इसके फूलों में विटामिन सी और बीहोने के कारण त्वचा सम्बन्धी बीमार व्यक्ति को इनका सेवन करना चाहिए । अगस्त के पेड़ से प्राप्त फूलों से शक्ति भी मिलती है . प्रतिदिन यदि पानी में भिगोकर इनका प्रयोग किया जाये तो काफी लाभकारी हो सकता है . 
अगस्त के पेड़ के गुण धर्म

पत्ते     इसके पत्तों का उपयोग करने से विपाक में मधुर , गुरु तथा कृमि तिक्त , कटु , कफ ,विष , प्रतिशयाय , रक्त पित्त , कंडु के रोग को दूर किया जाता है 
फूल 
 इसके फूलो के उपयोग से भी कई बीमारी ठीक होती है  जैसे :- 
पित्त
 , कफ , शीतल ,रुक्ष ,तिक्त , शीतवीर्य , वटकर प्रतिशयाय को ठीक करता है  इसका स्वाद कड़वा , मधुर , कसैला,होता है  चातुर्थिक ज्वरवातरक्त , पीनस रोग और रतौंधी का रोग भी इसके फूलो के उपयोग से,ठीक हो जाता है 
फल 
 इस पेड़ की फली में सर व बुद्धि देने वाले पदार्थ पाए जाते है इस पेड़ की कच्ची फलियों से सब्जिया भी बनाई जाती है , यह दस्तावर रुचिकारक गुणवता धारक ,  त्रिदोष दर्द नाशक पाण्डु रोग निवारक विष बुद्धि वर्धकगुल्म और शोथ सम्बन्धी बीमारी का नाश करता है  इसकी छाल संकोचक, कटु,पोष्टिक और पाचन शक्ति को बढाता है  अगस्त पेड़ की पकी हुए फली रुक्ष और,पित्तकारक होती है 
--------------------------


हर्बल चिकित्सा के अनमोल  रत्न-