Showing posts with label सेब का सिरका. Show all posts
Showing posts with label सेब का सिरका. Show all posts

13.8.19

पेट में गैस के आयुर्वेदिक ,घरेलू समाधान



पेट से संबंधित कई तरह की समस्याओं में पेट में गैस बनना एक आम समस्या है। छोटी उम्र से लेकर युवाओं और बुजुर्गों तक, हर उम्र के व्यक्ति को कभी न कभी इस समस्या का सामना करना पड़ा है। पेट में गैस बनने के कई कारण हो सकते हैं जैसे अत्यधिक भोजन करना, ज्यादा देर तक भूखे रहने, तीखा या चटपटा भोजन करना, ऐसा भोजन करना जो पचने में कठि‍न हो, ठीक तरीके से चबाकर न खाना, ज्यादा चिंता करना, शराब पीना, कुछ बीमारियों व दवाओं के सेवन के कारण भी पेट में गैस सकती है।
अस्वस्थ खान-पान और गलत दिनचर्या की वजह से पेट में गैस बनने की समस्या लगभग हर किसी को है। आए दिन लोगों को पेट में गैस बनने लगती है। विशेषज्ञों के अनुसार गैस बनना या पेट फूलना एक सामान्य बात है। ज्यादातर लोगों के साथ यह समस्या है। लेकिन अगर आप नियमित रूप से इससे पीडि़त हैं, तो यह लैक्टोज असहिष्णुता, हार्मोनल असंतुलन या किसी प्रकार की आंत्र रूकावट जैसे गंभीर विकार का संकेत भी हो सकता है। पेट में गैस की समस्या से बचने के लिए दवाओं के बजाय प्राकृतिक व आयुर्वेदिक उपायों का सहारा लेना अच्छा होता है। 
पेट में गैस या अपच कोई बीमारी नहीं है, बल्कि ये पाचन क्रिया का ही एक हिस्सा है। यह एक ऐसी स्थिति है, जहां आपके पाचन तंत्र में अतिरिक्त गैस जमा हो जाती है। पेट में गैस बनने की समस्या से निपटने के लिए ये समझना जरूरी है कि ऐसा होता क्यों है। गैस आपके पाचन तंत्र में दो तरह से जमा हो सकती है। भोजन करते या पीते समय आप हवा को निगलते हैं, जिससे ऑक्सीजन और नाइट्रोजन आपके शरीर में प्रवेश करती है। दूसरा महत्वपूर्ण कारण है, जब आप भोजन को पचाते हैं, तब हाइड्रोजन, मीथेन और कार्बन डाइऑक्साइड जैसी गैसें उत्सर्जित होती हैं और पेट में जमा हो जाती हैं। यदि यह ज्यादा मात्रा में है, तो बहुत असुविधा पैदा कर सकती है।
पेट में गैस या अपच होना काफी कुछ आपके दैनिक भोजन विकल्पों पर भी निर्भर करता है। खासतौर से सेम, पत्तागोभी, छोले या दाल जैसे खाद्य पदार्थ आसानी से पच नहीं पाते हैं। ये बृहदांत्र से गुजरते हैं, जिसमें बहुत सारे बैक्टीरिया होते हैं, जो गैसों को जारी करते समय भोजन को तोड़ने में मदद करते हैं, जिससे आप असहज महसूस कर सकते हैं। कुछ मामलों में गैस गुदा से होकर गुजरती है, तो उस पर मौजूद बैक्टीरिया सल्फर मिलाते हैं, जिससे गैस में गंध बढ़ जाती है। पेट में गैस कभी-कभी दर्द के साथ हो सकती है या नहीं भी हो सकती। 
पेट की गैस की समस्या से बचने के लिए दवा लेना सही है, लेकिन इससे समस्या जड़ से खत्म नहीं होगी। इसके लिए अच्छा है कि आप घरेलू उपायों को अपनाएं। इसके दो फायदे हैं। एक तो यह आपके घर में ही मौजूद हैं, जिससे आपका जेब खर्च नहीं बढ़ेगा, वहीं अन्य दवाओं की तरह इसके कोई साइड इफेक्ट भी नहीं है। तो नीचे जानते हैं पेट की गैस को भगाने के कुछ असरदार घरेलू नुस्खों के बारे में।


जीरे का पानी

जीरा पानी गैस्ट्रिक या गैस की समस्या को जड़ से खत्म करने का सबसे अच्छा आयुर्वेदिक उपाय है। दरअसल, जीरे में मौजूद आवश्यक तेल, लार ग्रंथियों को उत्तेजित कर भोजन के बेहतर पाचन में मददगार होता है। इसके साथ ही यह अतिरिक्त गैस बनने से रोकता भी है। अगर आप पेट की गैस से राहत पाना चाहते हैं, तो 1 चम्मच जीरा को दो कप पानी में 10-15 मिनट के लिए उबालें। इसे ठंडा होने दें और खाना खाने के बाद इस पानी को पीएं। ऐसा करने से पेट में गैस की समस्या का समाधान जल्दी हो जाएगा।
अजवाइन
आयुर्वेद में अजवाइन को बहुत असरदार बताया गया है। पेट की गैस के लिए अजवाइन बहुत अच्छा आयुर्वेदिक उपचार है। अगर आपके पेट में गैस बन जाती है, तो गर्म पानी के साथ एक चम्मच अजवाइन लें, इससे एसिडिटी से तुरंत राहत मिल जाएगी। दरअसल, अजवाइन में थाइमोल नामक एक यौगिक होता है, जो गैस्ट्रिक रस को स्त्रावित करता है, जो पाचन में आपकी मदद करता है। अगर आपको गैस की समस्या अक्सर ही रहती है, तो आप रोजाना दिन में कभी भी एक बार इसका इस्तेमाल कर सकते हैं। आप पहले से बेहतर महसूस करेंगे।
अदरक
अगर आपके पास में जब चाहे गैस बनती है, तो अदरक एक बेहतर आयुर्वेदिक दवा है। पेट में गैस की समस्या से बचने के लिए एक चम्मच ताजा अदरक को किस लें और इसे एक चम्मच नीम्बू के रस के साथ खाना खाने के बाद लें। गैस से राहत पाने के लिए अदरक की चाय पीना भी एक प्रभावी घरेलू उपाय है। आपको बता दें कि अदरक एक नेचुरल कार्मिनेटिव एजेंट (पेट फूलने से राहत देने वाला एजेंट के रूप में कार्य करता है) है। इसलिए पेट में गैस से बचने के लिए अपनी दिनचर्या में भी आप अदरक का इस्तेमाल कर सकते हैं।
नींबू का रस
पेट में बनने वाली ज्यादा गैस को कम करने के लिए नींबू का रस और बेकिंग सोडा एक सरल उपाय है। गैस की समस्या से राहत पाने के लिए 1 चम्मच नींबू का रस और आधा चम्मच बेकिंग सोडा को एक कप पानी में घोलें। खाना खाने के बाद इसे पीएं। बता दें कि यह कार्बन डाईऑक्साइड बनाने में आपकी मदद करता है, जिससे पाचन प्रक्रिया भी सुगम बनती है।
इलायची
कई लोगों को खाना खाने के तुरंत बाद गैस बनने लगती है, जिससे उनका पेट फूलने लगता है। कई लोगों को इस दौरान बेचैनी भी होने लगती है। गैस को चुटकियों में भगाने के लिए इलायची बेहतर आयुर्वेदिक व घरेलू उपाय है। इसका इस्तेमाल करने के लिए एक पिसी हुई इलायची को हींग, सूखे अदरक और काले नमक के साथ पांच ग्राम के बराबर अनुपात में मिलाएं। अगर आपको पेट में गैस अक्सर बनती है, तो इस मिश्रण को दिन में दो से तीन बार गुनगुने पानी के साथ लें। गैस बनने से रूक जाएगी और आपको राहत महसूस होगी।
पुदीना
पेट में यदि गैस बन रही हो, तो तुरंत पुदीने का देसी नुस्खा अपना लें। ये तो सभी जानते हैं कि पुदीना सेहत के लिए बहुत फायदेमंद होता है। इसका सेवन कर लिया जाए, तो बहुत सी परेशानियों से निजात पाई जा सकती है। अगर आपके पेट में गैस बनती है, तो पुदीने का जूस या पुदीने की चटनी खाएं। बहुत आराम मिलेगा।
सेब का सिरका
सही समय पर खाना न खाने से भी पेट में गैस की समस्या बनी रहती है। इसके लिए सेब का सिरका बेहतर घरेलू उपचार माना जाता है। इसका इस्तेमाल करने के लिए गुनगुने पानी में दो चम्मच सेब का सिरका मिलाकर पीएं। स्वाद में थोड़ा खट्टा जरूर लगेगा, लेकिन गैस से तुरंत आराम दिलाने के लिए ये बहुत अच्छा उपाय है।
हींग
आपके किचन में मौजूद हींग गैस की समस्या से निपटने का रामबाण इलाज है। पेट में गैस बनने पर आधा चम्मच हींग को गर्म पानी के साथ मिलाएं और पी लें। हींग एक एंटी फ्लैटुलैंट के रूप में कार्य करता है, जो पेट में अतिरिक्त गैस उत्पन्न करने वाले आंत बैक्टीरिया के विकास को रोकता है। आयुर्वेद के अनुसार हींग, शरीर के वात दोष (वायु से उत्पन्न होने वाला दोष) को संतुलित करने में मदद करता है। जब कोलोन में वात बढ़ जाता है, तो गैस का निर्माण होता है।


छाछ

पेट में गैस बनना यूं तो आम समस्या, लेकिन नियमित रूप से अगर ये समस्या हो, तो आप छाछ पीकर घर में इसका इलाज कर सकते हैं। दोपहर के खाने के बाद एक गिलास छाछ में भुना हुआ जीरा और सूखा हुआ अदरक पाउडर मिलाकर पीने से इस बीमारी को ठीक करने में मदद मिलेगी।
सौंफ के बीज चबाएं
आपने देखा होगा कि हर इंडियन रेस्टोरेंट में खाने के बाद सौंफ सर्व की जाती है। ऐसा इसलिए क्योंकि सौंफ के बीजों को पेट में गैस को बनने से रोकने और पाचन में सुधार करने के लिए जाना जाता है। इसलिए खाने के बाद हमेशा एक से दो चुटकी सौंफ का सेवन जरूर करें। पेट में गैस कभी नहीं बनेगी।
हींग, काली मिर्च का पेस्ट
पेट में गैस या एसिडिटी होने पर कई बार सबके सामने शर्मिंदा भी होना पड़ता है। अब आप इस समस्या से जल्द से जल्द निजात चाहते हैं, तो हींग और काली मिर्च एसिडिटी या कब्ज की समस्या से राहत पाने की घरेलू मेडिसिन है। इसे बनाने के लिए काली मिर्च, सोंठ लें। दोनों को पीसकर एक बारीक चूर्ण बना लें। मिश्रण में एक ग्राम हींग और दो ग्राम सेंधा नमक मिलाएं। इसमें पानी की कुछ बूंद डालें और पतला सा पेस्ट बनाएं। इस पेस्ट को पैन में डालकर थोड़ा गर्म करें और पेट पर लगाएं। दो घंटे तक इसे पेट पर लगा रहने दें और फिर पानी से साफ कर लें। इस पेस्ट को आप गैस बनने पर कभी भी लगा सकते हैं। तुरंत आराम मिलेगा।
त्रिफला
हर्बल पाउडर त्रिफला भी कब्ज या गैस की समस्या से निपटने में काफी मददगार है। जब भी आपको गैस की शिकायत हो, आधा चम्मच त्रिफला को पानी में 5-10 मिनट के लिए उबालें और सोने से पहले इसे पी लें। इस मिश्रण के सेवन की मात्रा का बेहद ध्यान रखें, क्योंकि इसमें हाई फाइबर होता है। अगर आप इसे अधिक मात्रा में ले लेते हैं, तो यह सूजन का कारण भी बन सकता है।
लहसुन
लहसुन पेट में गैस बनने की समस्या का समाधान आसानी से कर सकता है। इसे कई तरह से उपयोग लाया जा सकता है। आप चाहें तो इसे आग में भूनकर या फिर जूस बनाकर या फिर खाने में डालकर भी खा सकते हैं। जिन लोगों की कब्ज की समस्या आए दिन बनी रहती है, उन्हें कच्चा लहसुन खाना चाहिए। ऐसा करने से बहुत जल्दी आराम मिलता है और कब्ज की समस्या बार-बार नहीं होती।
लौंग
पेट में गैस की समस्या कितनी भी पुरानी क्यों न हो, लौंग इसके लिए बहुत फायदेमंद है। लौंग को अगर शहद के साथ लिया जाए, तो इससे कब्ज की समस्या से मुक्ति मिलती है। इसके अलावा आप चाहें, तो लौंग को चूसने से भी गैस की परेशानी आपको नहीं होगी।
दालचीनी
दालचीनी पेट को हल्का करती है और गैस की समस्या से राहत दिलाती है। बता दें कि दालचीनी गैस्ट्रिक एसिड और पेप्सिन के स्त्राव को पेट की वॉल्स से दूर करती है, जिससे गैस नहीं बनती। दालचीनी का इस्तेमाल आप दो तरह से कर सकते हैं। पहला तो एक कप गर्म दूध में आधा चम्मच दालचीनी पाउडर मिलाएं और पी जाएं। आप चाहें तो स्वाद के लिए इसमें शहद मिला सकते हैं। इसके अलावा आप चाहें तो दालचीनी की चाय बनाकर पी सकते हैं। इसे बनाने के लिए एक कप गर्म पानी में आधा चम्मच दालचीनी पाउडर मिलाएं। पांच मिनट तक इसे पानी में उबलने दें। उबलने के बाद मिश्रण को ठंडा होने दें और फिर पी लें। गैस बनना तुरंत बंद हो जाएगी।


और भी उपाय हैं पेट की गैस के

1. नीबू के रस में 1 चम्मच बेकिंग सोडा मिलाकर सुबह के वक्त खाली पेट पिएं।
2. काली मिर्च का सेवन करने पर पेट में हाजमे की समस्या दूर हो जाती है।
3. आप दूध में काली मिर्च मिलाकर भी पी सकते हैं।
4. छाछ में काला नमक और अजवाइन मिलाकर पीने से भी गैस की समस्या में काफी लाभ मिलता है।
5. दालचीनी को पानी मे उबालकर, ठंडा कर लें और सुबह खाली पेट पिएं। इसमें शहद मिलाकर पिया जा सकता है।
6. लहसुन भी गैस की समस्या से निजात दिलाता है। लहसुन को जीरा, खड़ा धनिया के साथ उबालकर इसका काढ़ा पीने से काफी फादा मिलता है। इसे दिन में 2 बार पी सकते हैं।
7. दिनभर में दो से तीन बार इलायची का सेवन पाचन क्रिया में सहायक होता है और गैस की समस्या नहीं होने देता।
8. रोज अदरक का टुकड़ा चबाने से भी पेट की गैस में लाभ होता है।
9. पुदीने की पत्तियों को उबाल कर पीने से गैस से निजात मिलती है।
10. रोजाना नारियल पानी सेवन करना गैस का फायदेमंद उपचार है।
11. इसके अलावा सेब का सिरका भी गर्म पानी में मिलाकर पीने से लाभ होगा।
12. इस सभी उपचार के अलावा सप्ताह में एक दिन उपवास रखने से भी पेट साफ रहता है और गैस की समस्या पैदा नहीं होती।

किडनी फेल (गुर्दे खराब) की हर्बल औषधि 

प्रोस्टेट ग्रंथि बढ्ने से मूत्र बाधा की हर्बल औषधि 

सिर्फ आपरेशन नहीं ,पथरी की 100% सफल हर्बल औषधि 

आर्थराइटिस(संधिवात)के घरेलू ,आयुर्वेदिक उपचार