Showing posts with label बालों की समस्‍या. Show all posts
Showing posts with label बालों की समस्‍या. Show all posts

30.1.20

नीम के पानी से नहाने के लाभ



अक्सर लोग ये जानना चाहते हैं कि नीम के पानी से नहाने से क्या होता है तो आपको बता दें की आयुर्वेद में नीम के पानी से नहाने का अपना एक अलग ही महत्‍व है। ऐसा माना जाता है नीम के पानी में नहाने के फायदे हमारे स्‍वास्‍थ्‍य से जुड़े हुए हैं। ऐसा हो भी क्‍यों ना क्‍योंकि नीम में औषधीय गुण होते हैं जो हमें विभिन्‍न प्रकार के संक्रमण से बचाते हैं। प्राचीन समय से ही नीम के पानी का उपयोग नहाने के लिए किया जा रहा है। नीम में मौजूद एंटी-बैक्‍टीरियल गुण के कारण यह हमारी बहुत सी त्‍वचा समस्‍याओं को दूर करने में मदद करता है।
नीम के पानी के लाभ इतने हैं कि जिन्‍हें जानकर आप भी नीम का उपयोग किये बिना नहीं रह पाएगें। आइए जाने नीम के पानी से नहाने के लाभ क्‍या हैं।


 त्वचा समस्या-
नीम का पानी त्वचा समस्याओं के लिए लाभकारी होता है। आपको यह जान कर आश्‍चर्य हो सकता है कि नीम के विभिन्न हिस्‍सों में 140 से अधिक सक्रिय यौगिक होते हैं। जिनके कारण नीम पानी के फायदे हमारी त्‍वचा समस्‍याओं को दूर करने में मदद करते हैं। नीम के पानी का एक और फायदा यह है कि इसमें एंटीमिक्राबियल गुण भी उच्‍च मात्रा में होते हैं। इसका तात्‍पर्य यह है कि नीम के पानी से नहाने के फायदे आपको त्‍वचा संक्रमण से बचा सकते हैं। नीम के पानी का उपयोग विशेष रूप से चिकनपॉक्‍स (छोटी माता) से ग्रसित लोगों के लिए फायदेमंद होता है। यदि आप सोरायसिस या एक्जिमा (Psoriasis vs Eczema) जैसी समस्‍याओं से परेशान हैं तो नीम के पानी से नहाना आपके लिए फायदेमंद हो सकता है।


तन की बदबू को हटाना
नीम के उपयोग तन की बदबू को हटाने में किया जा सकता है। यदि आपको या आपके किसी परिचित को इस प्रकार की समस्‍या है तो उन्‍हें नीम के पानी से नहाने की सलाह दी जा सकती है। नीम के पानी से स्‍नान करने से आप शरीर की बदबू को दूर कर सकते हैं। अक्‍सर शरीर के गर्म और नमी युक्‍त भाग जैसे जननांग क्षेत्र या बगल में बैक्‍टीरिया की उपस्थिति के कारण शरीर से बदबू आने लगती है। नीम के पानी में मौजूद एंटी-बैक्‍टीरियल गुण उन बैक्‍टीरिया को नष्‍ट करने और उनके प्रभाव को कम करने में मदद करते हैं। इस तरह से नीम के पानी का इस्‍तेमाल कर आप शरीर की दुर्गंध को दूर कर सकते हैं।


 बालों की समस्‍या -
जो लोग बालों की समस्‍या से परेशान हैं वे नीम के पानी का उपयोग कर सकते हैं। नीम में पानी में मौजूद औषधीय गुण न केवल आपके बालों को स्‍वस्‍थ्‍य रखता है बल्कि उन्‍हें डैंड्रफ मुक्‍त भी रखता है। यदि आपको भी डैंड्रफ से छुटकारा चाहिए तो नियमित रूप से सप्‍ताह में 2 बार नीम के पानी से स्‍नान करें। यह आपके बालों को प्राकृतिक चमक दिलाने में भी सहायक होता है।

आंखों की समस्‍याएं-
आप नीम के पानी का उपयोग अपनी आंखों की समस्‍याएं जैसे आंख की खुजली, आंख आना इत्यादि के लिए कर सकते हैं। नीम के पानी से स्‍नान के दौरान नीम का पानी आपकी आंखों में मौजूद बैक्‍टीरिया को नष्‍ट करने में मदद कर सकता है। ऐसा इसलिए है क्‍योंकि नीम के पानी में एंटी-बैक्‍टीरियल गुण अच्‍छी मात्रा में होते हैं। इस तरह से यह स्‍पष्‍ट होता है कि नीम की पत्तियों को उबाल कर स्‍नान करना आंखों के लिए लाभकारी होता है।


एंटी-एजिंग गुण-
आप नीम के पानी का इस्‍तेमाल उम्र बढ़ने संबंधी लक्षणों को कम करने के लिए कर सकते हैं। नीम के पानी में एंटी-एजिंग गुण भरपूर मात्रा में होते हैं। नियमित रूप में नीम के पानी का नहाने के लिए उपयोग करना आपके लिए फायदेमंद हो सकता है। क्‍योंकि नीम आपकी त्‍वचा को पोषण देने के साथ ही झुर्रियों और डार्क सर्कल्‍स को हटाने में भी सहायक होता है। जिससे आपकी त्‍वचा को पर्याप्‍त मॉइस्‍चराइजिंग और प्राकृतिक चमक मिलती है।
 

बालों को मजबूत करता है -
नीम का पानी बाज़ार में उपलब्ध रासायनिक उत्‍पाद जिनका उपयोग आप बालों के लिए करते हैं, उनसे कहीं बेहतर है। नीम का पानी बालों के स्‍वास्‍थ्‍य को बढ़ावा देने वाला प्राकृतिक उत्‍पाद है। इसका उपयोग करने से बालों में किसी प्रकार के दुष्‍प्रभाव नहीं होते हैं। नीम का पानी बालों को मजबूत करता है और इन्‍हें गिरने से बचाता है। इसके अलावा नीम में मौजूद औषधीय गुण रोम छिद्रों को साफ करने और नए बालों को उगाने में मदद करते हैं। इसके लिए आप कुछ नीम की पत्तियों को पानी में उबालें और पानी को ठंडा करने के बाद अपने बालों को धोलें। नीम का पानी सिर की जूँ और लीख को हटाने में भी मदद करता है।

मांसपेशीय दर्द-
आप नीम के पानी का उपयोग मांसपेशीय दर्द को कम करने में कर सकते हैं। यह एक आम समस्‍या है जिससे सभी लोग प्रभावित रहते हैं। लेकिन अध्‍ययनों से पता चलता है कि मांसपेशीयों के दर्द को कम करने में गर्म पानी मदद करता है। इसलिए आप नीम की पत्तियों को उबाल कर इस पानी का उपयोग स्‍नान के लिए कर सकते हैं। दर्द को कम करने के लिए नीम का उपयोग कई प्रकार से किया जा सकता है। आप अपने नहाने के पानी में नीम तेल का भी उपयोग कर सकते हैं। नीम का पानी दर्द को कम करने के साथ ही त्‍वचा के लिए भी फायदेमंद होता है।


गठिया की सूजन -
कुछ अध्‍ययनों से पता चला है कि नीम के पानी से स्‍नान करने पर गठिया की सूजन को कम किया जा सकता है। नीम का पानी न केवल गठिया की सूजन बल्कि दर्द को भी कम करता है। क्‍योंकि नीम के औषधीय गुणों में दर्दनाशक गुण भी शामिल हैं। नीम शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत और संतुलित बनाने में मदद करता है। इस तरह से नीम का पानी सीधे ही गठिया के प्रभाव और विकास को रोकने में सहायक होता है।