Showing posts with label इरेक्‍शन में समस्‍या. Show all posts
Showing posts with label इरेक्‍शन में समस्‍या. Show all posts

23.8.19

पुरुष बांझपन के आयुर्वेदिक उपचार -डॉ.आलोक


महिला नि: संतानता के अलावा नि:संतानता के जो कारण सामने आये है उसमे पुरुषों की सहभागिता एक तिहाई से भी अधिक है | समय के साथ पुरुष नि: संतानता को लोग स्वीकार भी करने लगे हैं |
गर्भधारण में असमर्थता का कारण पुरुष का होना उसे परेशान कर देता है। वह अपनी समस्या को बताने में सहज नहीं होते है साथ ही यह भी समझते है कि कोई इलाज नहीं है लेकिन पुरुष बांझपन के कई रूप हैं जिनका इलाज किया जा सकता है।

बांझपन हर 6 जोड़ों में से लगभग 1 को प्रभावित करता है. एक जोड़े को एक बांझपन इलाज किया जा सकता है जो एक वर्ष के दौरान गर्भधारण करने में असमर्थ रहे हैं. जब समस्या पुरुष साथी के साथ होती है, तो इसे पुरुष बांझपन के रूप में जाना जाता है. पुरुष बांझपन कारक सभी बांझपन के मामलों में लगभग 30% योगदान करते हैं और पुरुष बांझपन अकेले सभी बांझपन मामलों के लगभग पांचवें हिस्से के लिए खाते हैं.


पुरुषों में बांझपन के चार मुख्य कारण हैं:
एक हाइपोथैलेमिक या पिट्यूटरी डिसऑर्डर (1-2%)
गोनाड विकार (30-40%)
शुक्राणु परिवहन विकार (10-20%)
अज्ञात कारण (40-50%)

एक्सरसाइज करना सेहत और शरीर के लिए बेहद फायदेमंद है इसमें कोई शक नहीं है, बल्कि कई सेहत समस्याओं से एक्सरसाइज आपको बचा सकती है। लेकिन कुछ मामलों में इसके नुकसान भी हो सकते हैं। जी हां, अत्यधिक एक्सरसाइज करना या स्टीरॉयड का सेवन आपकी सेहत पर नकारात्मक प्रभाव डालता है। खास तौर से पुरुषों में यह प्रजनन क्षमता में कमी लाने के लिए भी जिम्मेदार हो सकता है।
पुरुष बांझपन उपचार की आयुर्वेदिक औषधि की जानकारी पुरुषों को यौन समस्या से बचा सकती है। बांझपन का नाम सुनते ही अक्‍सर लोगों का ध्‍यान महिला बांझपन की तरफ जाता है। जबकि ऐसा नहीं है बांझपन न केवल महिलाओं में नहीं बल्कि पुरुषों में भी होता है। लगभग 10 प्रतिशत दंपत्ति चिकित्‍सीय रूप से बांझ होते हैं। 40 प्रतिशत से अधिक पुरुष बांझपन का शिकार होते हैं जिनमें शुक्राणुओं का उचित विकास नहीं हो पता है। पुरुष बांझपन शारीरिक कमजोरी, पोषक तत्‍वों की कमी, शुक्राणु उत्‍पादक अंगों या वृषणों की चोट आदि के कारण हो सकती है। इसके अलावा कुछ स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍याएं, संक्रमण और यौन संचारित रोग भी पुरुष बांझपन का कारण होते हैं। हालांकि ये समस्‍याएं स्‍थाई नहीं हैं। पुरुष बांझपन का उपचार औषधीय दवाओं और जड़ी बूटी से किया जा सकता है।
शारीरिक कमजोरी के के कारण पुरुषों में बांझपन की समस्‍या हो सकती है। हालांकि यह समस्‍या स्‍थाई नहीं हैं। लेकिन समय पर इसका इलाज नहीं किये जाने पर पुरुष बांझपन के लक्षण गंभीर हो सकते हैं। आइए जाने पुरुष बांझपन के लक्षण क्‍या हो सकते हैं।
* इरेक्‍शन बनाए रखने में समस्‍या
किसी भी व्‍यक्ति को यौन संबंध बनाने के दौरान लिंग में पर्याप्‍त कड़ापन न रख पाना भी बांझपन के लक्षणों में शामिल है। क्‍योंकि यह स्थिति भी शरीर में मौजूद हार्मोन पर निर्भर करती है।


यौन इच्‍छा में बदलाव

किसी पुरुष की प्रजनन क्षमता उसके हार्मोन स्‍वास्‍थ्‍य पर निर्भर करती है। शरीर में यौन कमजोरी अक्‍सर हार्मोन द्वारा नियंत्रित होती है। यदि पुरुषों के शरीर सेक्‍स हार्मोन में कमी होती है तो यह पुरुष बांझपन के लक्षण हो सकते हैं।
* अंडकोष में दर्द या सूजन
ऐसे बहुत से कारण हैं जिनके कारण अंडकोष में दर्द या सूजन हो सकती है। लेकिन अंडकोष की सूजन पुरुष बांझपन का प्रमुख कारण हो सकती है।
* स्‍खलन के दौरान समस्‍याएं
पुरुषों को सेक्‍स करने और स्‍खलन के दौरान यदि किसी प्रकार की समस्‍या जैसे दर्द या जलन आदि की समस्‍या भी बांझपन को दर्शाती है। ऐसी स्थिति में पुरुषों को अपने डॉक्‍टर से सलाह लेनी चाहिए।
* अंडकोष का छोटा होना
पुरुषों के शरीर में वृषण एक ऐसा अंग है जहां शुक्राणु होते हैं। इसलिए किसी भी पुरुष के स्‍वस्‍थ यौन स्‍वास्‍थ्‍य के लिए वृषण का स्‍वस्‍थ होना अतिआवश्‍यक है। छोटे या दृढ़ अंडकोष किसी पुरुष में बांझपन के लक्षणों को बढ़ा सकते हैं।
पुरुष बंध्यत्व के आयुर्वेदिक उपचार 

जिनसेंग
पुरुषों में बांझपन होने के दो प्रमुख कारण शुक्राणुओं की संख्‍या में कमी और कम गतिशीलता होती है। शुक्राणुओं की कम गतिशीलता का मतलब शुक्राणुओं का अंडाशय में अंडे तक पहुंचने में असमर्थता। पुरुष बांझपन की आयुर्वेदिक दवा के रूप में जिनसेंग का उपयोग किया जा सकता है। जिनसेंग में इन दोनों प्रकार की समस्‍याओं को दूर कर सकता है। पुरुषों के यौन स्‍वास्‍थ्‍य को बढ़ाने के लिए जिनसेंग प्रभावी औषधीयों में से एक है। यह सेक्‍स ड्राइव बढ़ाने, यौन प्रदर्शन सुधारने, स्‍तंभन दोष को दूर करने और शुक्राणुओं की संख्‍या और गतिशीलता को उत्‍तेजित करने में सहायक होता है। पुरुषों के बांझपन संबंधी लक्षणों को कम करने के लिए जिनसेंग की दो किस्‍मों जिनमें एशियाइ और अमरिकी जिनसेंग का सेवन करने की सलाह दी जाती है।
जिनसेंग का सेवन सेक्स ड्राइव बढ़ाएं, प्रदर्शन सुधारे, स्तंभन दोष दूर करे, स्पर्म काउंट बढ़ाना, शुक्राणु की गुणवत्ता में सुधार, स्खलित शुक्राणुओं को संरक्षित करना आदि शामिल हैं।
यौन शक्ति बढ़ाये ट्राइबुलस
आयुर्वेदिक चिकित्‍सकों का कहना है कि एक स्‍वस्‍थ आहार और नियमित व्‍यायाम शरीर को हेल्‍दी रखने के साथ यौन स्‍वास्‍थ्‍य को भी बढ़ावा देता है। इन उपायों के साथ ट्राइबुलस (Tribulus) का सेवन करने से पुरुषों में शुक्राणुओं की संख्‍या और गतिशीलता में वृद्धि होती है। कुछ अध्‍ययनों से पता चलता है कि इस जड़ी बूटी के अर्क का सेवन पुरुषों को स्‍तंभन दोष और अन्‍य यौन समस्‍याओं से बचा सकता है। इसके अलावा ट्राइबुलस (Tribulus) जड़ी बूटी के लाभ पुरुषों और महिलाओं की कामेच्‍छा में वृद्धि करने भी सहायक होती है। पुरुषों के लिए इस जड़ी बूटी के अन्‍य लाभ में टेस्‍टोस्‍टेरोन के उत्‍पादन में वृद्धि भी शामिल हैं। इसे कभी-कभी प्राकृतिक रूप से कामोत्तेजक उत्पादों में मिलाया जाता है, जिसका इस्तेमाल यौन शक्ति बढ़ाने के लिए किया जाता है।


शिलाजीत

बहुत से लोग यौन कमजोरी को दूर करने के लिए शिलाजीत का सेवन करने की सलाह देते हैं। शिलाजीत एक चिपचिपा राल की तरह दिखाई देने वाला पदार्थ है। यह हिमालय के पहाड़ों में चट्टानों के बीच में से निकाला जाता है। शिलाजीत को यौन कमजोरी दूर करने वाली ज्ञात अन्‍य सभी औषधियों से अधिक प्रभावी माना जाता है। ऐसा इसलिए है क्योंकि शिलाजीत में 85 से अधिक आयनिक खनिज, विटामिन और फुलविक एसिड (fulvic acid) होते हैं। ये सभी घटक जीनिटोरिनरी सिस्‍टम (genitourinary system) के समग्र कार्य में सुधार करते हैं। इसके अलावा शिलाजीत का नियमित सेवन एनीमिया और अन्‍य यौन समस्‍याओं को रोकने में मदद करता है। यह पुरुष बांझपन के लक्षणों को कम करने की सबसे अच्‍छी आयुर्वेदिक औषधी में से एक है।
अश्वगंधा
अश्वगंधा एक अनुकूलनीय और ऊर्जा बढ़ाने वाली जड़ी बूटी है जो पुरुषों की सहनशक्ति को बढ़ाने में सहायक होती है। नियमित रूप से सेवन करने पर यह पुरुषों के यौन प्रदर्शन और प्रजनन क्षमता में भी सुधार करती है। अश्वगंधा एंडोक्राइन सिस्‍टम का समर्थन करता है और इसके बेहतर कामकाज को बेहतर बनाए रखती है। सेवन करने के दौरान अश्वगंधा पुरुषों के शरीर में हार्मोनल संतुलन को भी बढ़ता है। जिससे पुरुषों में कामेच्‍छा को बढ़ाने में मदद मिलती है साथ ही यह शुक्राणुओं की संख्‍या और गुणवत्‍ता में भी सुधार करता है। यदि आप भी अपने यौन स्‍वास्‍थ्‍य को बेहतर बनाना चाहते हैं तो अश्वगंधा का औषधीय उपयोग कर सकते हैं।
यौन कमजोरी और पुरुष बांझपन को दूर करने के लिए औषधीय जड़ी बूटीयां बहुत ही प्रभावी होती हैं। लेकिन इनके अलावा भी आप कुछ घरेलू उपचार और जीवनशैली में परिवर्तन कर यौन कमजोरी को दूर कर सकते हैं। आइए जाने पुरुष बांझपन दूर करने के घरेलू उपाय क्‍या हैं।
तनाव कम करें
पुरुषों के लिए अत्‍याधिक तनाव और थकान बांझपन का कारण बन सकता है। ऐसी स्थिति में पुरुषों को तनाव प्रबंधन और जीवनशैली में कुछ परिवर्तन करने चाहिए। जिससे उनके समग्र स्‍वास्‍थ्‍य सहित यौन स्वास्‍थ्‍य को भी लाभ मिल सकता है। आप तनाव कम करने के लिए आयुर्वेदिक औषधियों का सेवन करें। इसके अलावा सुबह के समय जल्‍दी उठें, नियमित रूप से व्‍यायाम करें और अधिक मात्रा में मादक पदार्थों का सेवन करने से बचें। तनाव और चिंता को दूर कर आप अपने यौन स्‍वास्‍थ्‍य को बेहतर बना सकते हैं।
सावधानी-
जिन पुरुषों को प्रजनन संबंधी समस्‍याएं होती हैं उन्‍हें जामुन, नींम और विटेक्स बेरी (vitex berry) जैसे खाद्य पदार्थ और जड़ी बूटीयों का सेवन करने से बचना चाहिए। एक पशु अध्‍ययन के अनुसार इचिनेशिया, जिन्‍कगो और सेंट जॉन पौधों में ऐसे रसायन होते हैं जो शुक्राणुओं की गर्भाशय में अंडे तक पहुंचने की क्षमता को कम करते हैं। हालांकि यह स्‍पष्‍ट नहीं है कि ऐसे ही परिणाम पुरुषों के लिए भी हैं या नहीं। लेकिन सावधानी के लिए बांझपन के उपचार के दौरान इन जड़ी बूटीयों का सेवन करने से बचना चाहिए।

किडनी फेल (गुर्दे खराब) की हर्बल अमृत औषधि 

प्रोस्टेट ग्रंथि बढ्ने से मूत्र बाधा की हर्बल औषधि 

सिर्फ आपरेशन नहीं ,पथरी की 100% सफल हर्बल औषधि 

आर्थराइटिस(संधिवात)के घरेलू ,आयुर्वेदिक उपचार