Showing posts with label फिटनेस के लिए. Show all posts
Showing posts with label फिटनेस के लिए. Show all posts

24.1.17

हंसने के नायाब फायदे//Benefits of Laughter

    

     वैसे तो हंसने-हंसाने के लिए किसी बहाने की जरूरत नहीं होती लेकिन आपके ठहाकों में छिपी खुशहाली आपकी सेहत के लिए इतनी फायदेमंद है कि इसके फायदे जानने के बाद आप हर वक्त हंसने का बहाना खोजेंगे।
    जीवन हंसने का नाम..हंसते रहो सुबह-शाम’ अगर इस बात को आप अपने जीवन में उतार लेते हैं तो कोई भी बीमारी चाहे वह मानसिक हो या शारीरिक आपके निकट नहीं आएगी। हंसने को बेस्ट मेडिसिन का दर्जा मिला हुआ है। जिसके पास भी दूसरों को हंसाने की क्वालिटी होती है वह किसी डॉक्टर से कम नहीं है।
आज की भाग दौङ भरी जिंदगी, ऊपर से काम का प्रेशर हममे में से कई लोगों को तो याद भी न होगा कि पिछली बार कब खिलखिला कर हँसे थे। जबकी हँसना हम सभी के लिये अति महत्वपूर्ण है किन्तु हम उसे नजर अंदाज कर देते हैं। मित्रों हँसने से हमारी जिंदगी किस तरह स्वस्थ एवं खुशनुमा हो सकती है

    आपको भले ही कुछ न आता हो लेकिन आप दूसरों को हंसाने का काम करते हैं तो यह एक सबसे बड़ी सेवा है। डॉक्टर्स के मुताबिक हंसने से न केवल स्वास्थ्य सही रहता है बल्कि काम करने के लिए स्फूर्ति आती है औए शरीर ऊर्जा से लबालब रहता है। यही नहीं, हंसने से जिंदगी भी बढ़ती है।

थायरायड रोग के आयुर्वेदिक उपचार 

आजकल तो देखा गया है कि लोग हंसने के लिए पैसे देकर थैरपी लेते हैं। यही नहीं, लोग अपने आप को स्वस्थ रखने के लिए और हंसने के लिए कॉमेडी फिल्मों और कॉमेडी शो पर भी अपना समय देते हैं।

हंसने से ठीक रहता है रक्त संचार-
   युनिवर्सिटी ऑफ मेरीलैंड के शोधकर्ताओं का दावा है कि हंसने का संबंध शरीर के रक्त संचार से है। उन्होंने अपने अध्ययन में प्रतिभागियों को दो समूहों में रखा। पहले समूह को कॉमेडी कार्यक्रम दिखाया और दूसरे को ड्रामा। शोध में पाया गया कि कॉमेडी कार्यक्रम देखने वाली प्रतिभागी जो खुलकर हंस रहे थे उनका रक्त संचार अन्य की अपेक्षा काफी बेहतर था। 
समस्यायों (Problem) का निदान – 
    सब जानते है और दीखता भी है कि हंसले वाले लोगो किसी भी समस्या (Problem) को बाकि लोगो की तुलना में बड़ी जल्दी सुलझा लेते है क्योंकि ऐसे में जिन्दगी के प्रति एक अच्छा और सकारात्मक नजरिया जो विकसित होता है और यह समस्याओं (Problem) को दूर करने में हमारी बहुत मदद करता है | शोध बताते है कि मात्र 10 मिनट हंसने (laughing) से हमे इतनी उर्जा मिल जाती है जितना सुबह सुबह मस्त वाले वातावरण में एक किलोमीटर की walk करने से हमे मिलती है | हंसने (laughing) से हमारा रक्त्चाप भी सामान्य हो जाती है और फेफड़े भी मजबूत होते है तथा उनकी क्षमता में भी वृद्धि होती है | थोड़ी देर का हँसना हमारे हृदय की क्षमता को भी बढाता है और रक्त प्रवाह भी संतुलित हो जाता है और हमारे शरीर के लिए हंसी फायदे (benefits) की डोज है |




दर्द से आराम दिलाए
    कई शोधों में यह पाया गया है कि स्पोंडलाइटिस या कमर के दर्द जैसे असहनीय दर्द में आराम के लिए हंसना एक प्रभावी विकल्प है। डॉक्टर लाफिंग थेरेपी की मदद से इन रोगों में रोगियों को आराम पहुंचाने का प्रयास करते हैं। इतना ही नहीं, 10 मिनट तक ठहाके लगाने से आपको दो घंटे तक दर्द से राहत या नींद आ सकती है।
हँसी प्रतिरक्षा तंत्र की मजबूती के लिए Laughter to strengthen the immune system
रोजाना अधिक हँसने से हमारे शरीर में उचित रूप से ऑक्सीजन मिलता है. जिससे शरीर प्रतिरक्षा तंत्र की मजबूती होती है और शरीर स्वस्थ रहता है.
दिल की मजबूती के लिए – 
   हँसना दिल के लिए बहुत ही अच्छा होता हैं. हँसने से हार्ट अटैक जैसी घातक बिमारी से भी छुटकारा पाया जा सकता हैं. हार्ट अटैक एक ऐसा रोग हैं. जिससे लोगों की मृत्यु होने की भी सम्भावना काफी अधिक होती हैं. हँसने से ह्रदय का व्यायाम होता हैं. जिससे रक्त शुद्ध हो जाता है और इस शुद्ध रक्त का संचार पूरे शरीर में होता हैं. जिसे हार्ट अटैक का रोग आपके शरीर से बिल्कुल्दूर हो जाता हैं.
कैलोरी की खपत
  रिसर्च में पाया है कि हंसने से शरीर की कैलोरी की खपत होती है बल्कि ब्लड सुगर का स्तर भी कंट्रोल में रहता है। इसलिए अपने बॉडी को संतुलित रखने के लिए हंसना कभी न भूलें।
तनाव कम करने के लिए हँसी 
   तनाव जिसे आम बोलचाल की भाषा में टेंशन भी कहा जाता है. टेंशन को खत्म करने के लिए हँसना फायदेमंद होता है. इसलिए रोजाना खूब हँसे और प्रशन्न रहने का प्रयास करें.



य़दि सुबह के समय हास्य ध्यान योग किया जाए तो दिन भर प्रसन्नता रहती है। यदि रात में ये योग किया जाये तो नींद अच्छी आती है। हास्य योग से हमारे शरीर में कई प्रकार के हारमोंस का स्राव होता है, जिससे मधुमेह, पीठ-दर्द एवं तनाव से पीङित व्यक्तियों को लाभ होता है।
जीवन बढ़ता है=
   डॉक्टर का मानना है कि जो इंसान दिल से और खुलकर हंसता या मुस्कुराता है उसे सब पसंद तो करते ही हैं, साथ ही उसका जीवन भी कुछ साल और बढ़ जाता है। इसके अलावा हंसने से दर्द में भी आराम मिलता है।
नकारात्मत से सकारात्मक उर्जा की ओर
यदि आप नकारात्मक बातों को ज्यादा महत्व देते हैं तो आज से हंसना शुरू कर दे। आपकी नकारात्मक सोच सकारात्मक में बदल जाएगी। आप किसी भी परेशानी से निराश नहीं होंगे बल्कि परेशानी में क्या अवसर है उसके बारे में विचार करेंगे।
रोगों को दूर करने के लिए – 
   रोगों से राहत पाने के लिए भी हँसना बहुत ही फायदेमंद होता हैं. यदि आप रोजाना सुबह उठकर किसी पार्क में जाकर ताज़ी हवा में हँसने की योगा करें. तो आपकई शरीर में कुछ नए हार्मोन्स उत्पन्न होते हैं. ये हार्मोन्स शरीर को विभिन्न रोगों से बचाने में बहुत ही सहायक होते हैं. हँसने की योगा करने से आपको नींद अच्छी आएगी तथा आपको पीठ दर्द, कमर दर्द, मधुमेह जैसी अन्य बिमारियों से छुटकारा मिल जाता हैं.
थकावट और आलस्य को दूर करता है-
   अगर आपके अंदर उर्जा की कमी है या आप थकावट और आलशीपन के शिकार हैं अपने जीवन में लाफिंग थैरिपी को शामिल करें। फिर देखिए बदलाव। आप देखेंगे कि आप न केवल उर्जावान हो रहे हैं बल्कि आपकी मानसिक क्षमता में बढ़ोतरी हुई है।
हँसी खूबसूरती में बढ़ोतरी के लिए 




    हँसने से ना केवल हमारा शरीर स्वस्थ रहता है बल्कि हमारी सुंदरता भी बढ़ती है. जोर से हँसने से हमारे शरीर की मांसपेशियों की एकसरसाइज हो जाती हैं. जिससे चेहरे पर एक अलग ही चमक व निखार आ जाता हैं और चेहरे पर झुर्रियां भी जल्दी नहीं पड़ती.
हंसने से हमारे मूड में तेजी से बदलाव आता है और हमारे आत्मविश्वास के स्तर में इजाफा होता है और हंसने (laughing) से न केवल हम ही खुश होते है बल्कि हमारे आस पास के वातावरण को भी हम खुशनुमा बना देते है 
फिटनेस के लिए –
    हर व्यक्ति यही चाहता हैं कि वह हमेशा फिट रहे और अपने सभी काम स्फूर्ति के साथ कर पाए. किसी विद्वान ने कहा हैं किहंसी अनेक मर्जों की दवा हैं. यह कहावत बिल्कुल ठीक हैं. प्रतिदिन यदि आप अपने दिन की शुरुआत एक घंटे तक हँसने के बाद करें तो वह व्यक्ति हमेशा फिट रहता हैं तथा इसके साथ ही और व्यक्तियों की तुलना में रोजाना हँसने वाले व्यक्ति को बुढापे की स्थिति का भी सामना देरी से करना पड़ता हैं. यह बात तो सच की हर व्यक्ति के जीवन में बुढ़ापा जरूर आता हैं लेकिन हँसते रहने वाले व्यक्तियों को यह बुढ़ापा अन्य व्यक्तियों की भांति अत्यधिक परेशान नहीं करता. हमेशा हँसते रहने वाला व्यक्ति बुढ़ापे की अवस्था में भी अपने कार्य को करने में समर्थ रहता हैं तथा अपने कार्य को अधिक सक्रियता से कर पाता हैं.